Tuesday, December 6निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

अशोक गहलोत के 2 राहत भरे निर्णय, 344 आवासीय विद्यालयों डिजिटल लाइब्रेरी स्थापना के प्रस्ताव को दी मंजूरी

जयपुर
राजस्थान के मुख्मंत्री अशोक गहलोत ने सूचना एवं प्रोद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के 344 आवासीय विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सीएम ने इनकी स्थापने के लिए 36.56 करोड़ रुपये के वित्तीय प्रस्ताव को सहमति प्रदान की है। बता दें, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्त एवं विनियोग विधेयक 2022-23 की चर्चा के दौरान की गई घोषणा की अनुपालना में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह स्वीकृति प्रदान की है। सीएम अशोक गहलोत ने अपने दूसरे निर्णय के तहत  प्रदेश के मदरसों को आधुनिक तकनीक से जोड़ने के लिए 13.10 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है।  प्रदेश के 500 में स्मार्ट क्लास रूम स्थापित होंगे।

सुविधाओं से लैस डिजिटल लाइब्रेरी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की इस स्वीकृति से जनजातीय क्षेत्रीय विकास विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, अल्पसंख्यक मामलात, स्कूल शिक्षा विभाग आदि के अधीन संचालित विभिन्न आवासीय विद्यालयों, बहुउद्देश्यीय हाॅस्टल व कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित हो सकेगी। 

सीएम गहलोत ने की थी घोषणा 

उल्लेखनीय है कि वित्त एवं विनियोग विधेयक 2022-23 की चर्चा के दौरान की गई घोषणा की अनुपालना में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह स्वीकृति प्रदान की है। सीएम गहलोत ने आज के परिदृश्य में डिजिटल लर्निंग के महत्व को देखते हुए अल्प आय वर्ग के विद्यार्थियों को भी इसका लाभ दिलाने की दृष्टि से विभिन्न विभागों के अधीन आवासीय शिक्षण संस्थानों एवं चयनित विद्यालयों मे 9 वीं से 12 वीं  की कक्षाओं के लिए डिजिटल लाइब्रेरी एवं अन्य आवश्यक सुविधाए उपलब्ध कराने के लिए वित्तीय प्रावधान की घोषणा की थी।